Latest post

  • पहाड़ कहीं के हों वहां का भुगोल इतना उबड़-खाबड़ होता है कि खेतों का आकार सीढीनूमा सीढीनूमा और जोतें बहुत छोटी होती हैं। Read More...
  • हिमालयन कम्यूनिटि वैंचर वर्तमान में भले ही उत्तराखण्ड और हिमालय के जैविक उत्पादों, हस्तशिल्प और लोककला का आनलाइन Read More...
  • गोकुल ग्राम- गोकुल धाम भले ही एक सरकारी पहल हो लेकिन यह पशु संरक्षण और मानवीय आधार पर एक श्रेष्ठ पहल Read More...
  • पिछले एक दशक से हमारी सरकारों का खास ध्यान इस बात पर रहा है कि किसान जो भी उत्पादन करे वह उसके लिए Read More...
  • जबकि यह तय है कि होम स्टे, बदरी गाय समेकित और एकीकृत खेती ये सब उत्तराखण्ड के पहाड़ी किसान के लिए Read More...

Business

Self Help

Technology

Photography

News